जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव ने उप कारागृह भीनमाल, सांचौर एवं वात्सल्य चिल्ड्रन होम रानीवाड़ा का किया निरीक्षण   


बालकों की सुविधाओं में नहीं रखे कोई कमी : मीणा

जालोर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं जिला न्यायाधीश हारून के निर्देशन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश विरेन्द्र कुमार मीणा ने शनिवार को उप कारागृह भीनमाल, सांचौर एवं वात्सल्य चिल्ड्रन होम रानीवाड़ा का निरीक्षण कर उपस्थित कर्मचारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने उप कारागृह भीनमाल व सांचौर का निरीक्षण कर उप कारागृह के अधिकारियों को निर्देश दिये कि बंदियों को मिलने वाली सुविधाओं में किसी प्रकार की कोताही नहीं बरते। बंदियों को नियमानुसार सारी सुविधाएं उलब्ध करवाए। उन्होंने कहा कि ऐसे बंदी जिनकी पैरवी के लिए अधिवक्ता नियुक्त नहीं है उनकी सूचना तुरंत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण या तालुका विधिक सेवा समिति को दी जावे। उन्होंने कहा कि बंदियों के मनोरंजन के लिए टीवी आदि की व्यवस्था की जावें एवं पढऩे के लिए नियमानुसार किताबें उपलब्ध करवाई जावे। इस दौरान उन्होंने बंदीजनों से वार्तालाप कर सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की। इसी प्रकार सचिव ने रानीवाड़ा स्थित वात्सल्य चिल्ड्रन होम का भी निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने रसोई घरए स्टोर रूम आदि का भी निरीक्षण किया और उपस्थित कर्मचारियों को निर्देश दिये कि बालकों को शुद्ध एवं गुणवत्तापूर्ण भोजन उपलब्ध करवाए। उन्होंने निर्देश दिये कि बाहर से लाई जाने वाली सब्जियांए फल आदि अच्छी तरह धोकर उपयोग में लिए जावे। उन्होंने कहा कि बालकों के स्वास्थ्य की समय समय पर जांच करवाई जावे एवं आवश्यकतानुसार दवाइयां उपलब्ध करवाई जावे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!